Our Individual Time Zone

time

 

कालः सुप्तेषु जागर्ति कालो हि दुरतिक्रमः ।
कालः सर्वेषु भूतेषु चरत्यविधृतः समः ।।

क्या आप जानते हैं म्यामार (बर्मा) भारत से एक घण्टे आगे है तो क्या हम कहेंगे भारत म्यामार से धीरे है ?
भारत ब्रिटेन से 4.30 घण्टा आगे है तो क्या ब्रिटेन भारत से पीछे रह गया है?

जी नही !!दिन का जो समय भारत मे आता है वही समय म्यामार में एक घंटा पहले था और वही समय ब्रिटेन में साढ़े चार घन्टो बाद होगा।

यानी हम सब अपने समय मे चल रहे हैं!!

किसी की शादी छुटपन में हो गई कोई अभी कुंवारा है किसी के बच्चे सालों तक नही होती किसी के एक साल में ही हो जाते हैं

कोई 22 साल की उम्र में पढ़ाई खत्म कर 30 साल तक नौकरी के इंतज़ार में बैठा है और कोई 30 साल की उम्र में पढ़ाई खत्म करते ही नौकरी पा जाता है।

कुछ लोग 20 साल की उम्र में फौज में जाते हैं और 35 साल पर रिटायर भी हो जाते हैं कुछ लोग 35 साल पर नौकरी शुरू करते है और 60 साल में रिटायर होते हैं।

एक जवान इंसान एक्सीडेंट में मर जाता है और एक बीमार बुढा 90 साल की उम्र तक जीता रहता है।

क्यों????

क्योंकी हम सब अपने समय के दायरे में चलते हैं। हम अपना जीवन सिर्फ अपने समय के परिपेक्ष्य में जी सकते हैं किसी दूसरे के नही।

कभी कभी आपको लगता होगा आपके मित्र, भाई बहन आपसे आगे निकल गए और कभी आप कुछ लोगों से आगे निकल गये वो इसलिये की हममे से हर एक के समय की गति अलग है।

हम सभी को जीवन मे अपने समय मे ,अपनी गति से और अपने मार्ग से चलना होता है। इश्वेर ने हम सब के लिए एक व्यक्तिगत खाका तैयार किया है जो किसी दूसरे से अलग है

हमारी गति अलग है हमारा समय अलग है।

मोदी जी 8 साल की उम्र से RSS में थे किंतु 50 साल की उम्र में पहली बार MLA फिर CM बने ,योगी जी 26 साल की उम्र में MP बन गए और 44 साल की उम्र में CM!!

राजीव गांधी 40 साल की उम्र में प्रधान मंत्री बने और 46 साल की उम्र में मर गए मोरारजी देसाई 81 साल की उम्र में प्रधानमंत्री बने और 99 साल की उम्र में मरे!!

55साल की उम्र में ओबामा रिटायर हो गये और 70 साल की उम्र में डोनाल्ड ट्रम्प ने अपना कार्यकाल शुरू किया!!

जब 20साल का एक इंसान जवान कहा जाता है तो कुते के लिए वो आखिरी समय होता है।

जब हम एक ही दिन में रात व दिन महसूस करते हैं तो उत्तरी ध्रुव पर रहने वाले एस्किमो 6 महीने तक सिर्फ रात व 6 महीने तक सिर्फ दिन में रहते हैं तो क्या एक साल उनके लिए एक दिन व एक रात हैं?

घड़ियां कितनी भी हों समय एक ही होता है किंतु आपका व हमारा समय हमें अलग अलग परिणाम देता है।

कोई हमसे आगे है पीछे इससे कोई फर्क नही पड़ता क्योंकि हमें अपने समयनुसार चलना होता है।

किसी से अपनी तुलना मत करिये अपने समय के साथ चलिये।

कुछ देर नही हुई है..!!!

ना आपकों नौकरी मिलने में
ना शादी होने में
ना बच्चा होने में
ना प्रमोशन में
ना गाड़ी खरीदने में
ना घर खरीदने में
ना इन्क्रीमेंट बढ़ने में

जिस समय आप बुरे समय को कोस रहे होते हैं समय उस वक़्त भी चल रहा होता है जिस समय आप अच्छे वक़्त में ठहाके लगा रहे होते हैं समय उस वक़्त भी चल रहा होता है।

आपको भले ही लगे देर हो रही है किंतु समय जानता है की उसे कब आना है

ना तो देर हुई हैं ना ही कोई जल्दी है ,क्योंकि आपका समय अपने समय पर ही आएगा

बस !!भरोसा रखिये!!!